बच्चियों ने आंख बंद कर त्रिनेत्र से पढ़ डाली किताब, बना दिए चित्र

बच्चियों ने आंख बंद कर त्रिनेत्र से पढ़ डाली किताब, बना दिए चित्र

दी न्युज़ एशिया समाचार सेवा ।

मेरठ । चौधरी चरण सिंह विवि के बृहस्पति भवन में सोमवार को कुछ अलग दृश्य था। मंच पर योग गुरु स्वामी कर्मवीर थे और उनके साथ मे थी उनके गुरुकुलम ऋषिकाकुलम की बच्चियां। योग और ध्यान के बल पर इन बेटियों को आंख पर पट्टी बांध कर किताबों को पढ़ना था, चित्र बनाने था और रंगों की पहचान करनी थी।

बेटियों ने आंख पर पट्टी बांधकर जैसे ही रंगों को पहचानना शुरू किया, तालियां नहीं रुकी। बेटियों ने दिए गए सभी रंगों को सटीक ढंग से पहचान लिया। प्रोग्राम में एक दर्शक ने एक बच्ची को सौ का नोट देते हुए नम्बर बताने की मांग की। लेकिन बेटी ने बिना देर किए नोट का सटीक नम्बर बता दिया। इसके बाद बेटियों में आंख बंद करके चित्र बनाए और पुस्तक पढ़ी। बेटियों के त्रिनेत्र की इस शक्ति को देखकर दर्शकों की तालियां नहीं रुक पाए। बेटियों ने बन्द आंखों से डॉग, बत्तख और गुलाब का चित्र बनाकर रंग भर दिए। योगगुरु स्वामी कर्मवीर ने कहा कि योग से तीसरी आंख को सक्रिय कर सकते हैं। इससे ब्रेन को एक्टिव किया जा सकता है।