छात्रों  प्राइवेट अस्पतालों की लूट खसौटी पर किया अर्धनग्न प्रदर्शन 

छात्रों  प्राइवेट अस्पतालों की लूट खसौटी पर किया अर्धनग्न प्रदर्शन 

दी न्यूज़ एशिया समाचार

सेवा।

छात्रों  प्राइवेट अस्पतालों की लूट खसौटी पर किया अर्धनग्न प्रदर्शन 

 मेरठ। गुरूवार विभिन्न छात्रों के गुट ने सर्किट हाउस  से कलेक्ट्रेट तक शहर में निजी अस्पतालों द्वारा की जा रही लूट खसोट के विरोध में कलेक्ट्रेट से लेकर सर्किट हाउस तक अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया। इस दौरान छात्रों ने एसीएम को ज्ञापन सौंपा। 

 छात्र नेता राजदीप विकल,अनुज जावला  ने कहा निजी अस्पतालों की लूट के प्रभाव में जब कोई जनप्रतिनिधि किसी उक्त संदर्भित अनाप शनाप बिल के संबंध में उचित बिल लेने की बात अस्पताल प्रबंधन से कहते है तो उसे अनसुना व उस पर कोई भी झूठा मुकदमा दर्ज कर दिया जाता है जैसा विधायक सरधना अतुल प्रधान  के साथ हुआ है, ऐसे में चिकित्सा क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार के विरोध में तथा अस्पतालों में डॉक्टरों की लूट के विरोध में किसानों, व्यापारी,छात्रों,नौजवानों तथा अलग-अलग सामाजिक संगठनों ने अर्धनग्न मार्च किया जो सर्किट हाउस से जिलाधिकारी कार्यालय तक चला इस अर्धनग्न मार्च में छात्रों व नौजवानों ने  एसीएम को एक ज्ञापन सौंपा जिसमें छात्रों ने अपनी कुछ माँग रखी  छात्रों की मांग की अस्पताल के नोटिस बाेर्ड पर रेट लिस्ट चस्पा की जाए।  जो लैब किसी अन्य लैब टेक्नीशियन के नाम से/फर्जी लैब टेक्नीशियन के नाम पर चल रही है उन्हें तत्काल प्रभाव से बंद किया जाए। समस्त अस्पतालों कि बिल्डिंगों को ध्वस्त किया जाय जो नक्शें से भिन्न-भिन्न/मानकों के विपरीत बनाई गई है। 

 अधिवक्ता आदेश प्रधान ने कहा अस्पताल के चिकित्सकों को गरीबों की मदद करनी चाहिए न की लूट खसौट । डॉक्टरों को भगवान का दर्जा दिया जाता है। इस कहावत को चिकित्सक  कायम रखे। जिससे समाज में उनकी सकारात्मक सोच बनी रहे। 

 छात्रों कहा कहा कि अगर उनकी  माँगों का पूरा नहीं किया जाता है तो हम लोग इसके लिए एक बडा जनआन्दोलन चलाने के लिए विवश होगे। अनुज भडाना,आकाश भडाना, तालिब रिज़वी, बब्लू जाटव, अंकुर जाटव, अंकुश नागर, मनीष वाल्मिकि, विशाल गुर्जर, विमल चौहान, सोनू जिन्दल, विकास शर्मा, गौरव गुप्ता, मोहित जाटव, अक्षय  बैंसला, सौरव विकल, अतुल सिंह, नकुल चौधरी,निशान्त गुर्जर, सागर विकल, अरूण भाटी, रजत नागर, शादाब खान, हैविन खान,आदि  मौजूद रहे ।