मर्दो में नपुंसकता का कारण बन सकता है हाई कोलेस्ट्रॉल, तुरंत कर ले सुधार, वरना…

cholesterol-health

मर्दो में नपुंसकता का कारण बन सकता है हाई कोलेस्ट्रॉल, तुरंत कर ले सुधार, वरना…

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

नई दिल्ली। हमारे शरीर के लिए कोलेस्ट्रॉल काफी जरूरी माना जाता है. कोलेस्ट्रॉल लिवर में बनने वाला मोम जैसा पदार्थ होता है जो कई तरह के काम करता है. उदाहरण के लिए, यह हमारे शरीर में मौजूद कोशिकाओं को लचीला बनाता है और कई तरह के हार्मोन्स का उत्पादन करता है.

नई दिल्ली। हमारे शरीर के लिए कोलेस्ट्रॉल काफी जरूरी माना जाता है. कोलेस्ट्रॉल लिवर में बनने वाला मोम जैसा पदार्थ होता है जो कई तरह के काम करता है. उदाहरण के लिए, यह हमारे शरीर में मौजूद कोशिकाओं को लचीला बनाता है और कई तरह के हार्मोन्स का उत्पादन करता है. लेकिन कोई भी चीज एक सीमित मात्रा में फायदा करती है और जब किसी की मात्रा ज्यादा होने लगती है तो वह कई तरह के नुकसान पहुंचाने लगती है. ऐसा ही कुछ कोलेस्ट्रॉल के साथ भी है. हमारे शरीर को जितनी मात्रा में कोलेस्ट्रॉल की जरूरत है, उतनी मात्रा का उत्पादन लिवर करता है लेकिन अगर शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा होती है तो इससे कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

हमारे शरीर में दो तरह का कोलेस्ट्रॉल होता है गुड कोलेस्ट्रॉल और बैड कोलेस्ट्रॉल. गुड कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर में कई तरह के काम करता है, जैसे हार्मोन्स का उत्पादन करना आदि. वहीं, बैड कोलेस्ट्रॉल को शरीर के लिए खराब माना जाता है. शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से यह रक्त वाहिकाओं में जमना शुरू हो जाता है और धीरे -धीरे ये कोलेस्ट्रॉल आर्टरीज में जमने लगता है और ये सिकुड़ने लगती हैं. जिससे ब्लड फ्लो रुक जाता है. इस कारण हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है. शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने से कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है जिसमें से एक है नपुंसकता या जिसे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन भी कहा जाता है.

कोलेस्ट्रॉल की समस्या से छुटकारा पाने के लिए जरूरी है कि आप अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करें. आज हम उन्हीं बदलावों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं.