चौधरी  चरण विवि के बोटनी विभाग को मिली2.4 करोड की मिली ग्रांट 

चौधरी  चरण विवि के बोटनी विभाग को मिली2.4 करोड की मिली ग्रांट 

दी न्यूज एशिया समाचार सेवा |

चौधरी  चरण विवि के बोटनी विभाग को मिली2.4 करोड की मिली ग्रांट 

 विवि छात्रों को रिसर्च करने के लिए दिल्ली व अन्य विवि नहीं जाना पडेगा

 मेरठ। मंगलवार को चौधरी चरण विवि को उस समय बडी सफलता मिली। जब उसे  साइंस एंड टेक्नोलाजी की ओर से 2.4 करोड की ग्रांट मिली है। चौधरी चरण विवि यूपी का ऐसा विवि है जिसे इस प्रकार की ग्रांट मिली है। शोध करने वाले एक्सपीरिएंट करने वाले छात्रों को दिल्ली के जवाहर लाल विवि नहीं जाना होगा। यह सारी सुविधा विवि के वनस्पति विभाग में छात्रों केा मिलेगी। 

  चौधरी चरण विवि की कुलपति प्राे संगीता शुक्ला ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया बडे हर्ष की बात है विवि के बॉटनी विभाग को दिल्ली के सांइस एंड टेक्टनोलाजी  ने  चौधरी सिंह विवि के बॉटनी विभाग को 2.4 कराेड  की ग्रांट मिली है।  इस प्रकार की ग्रांट  यूपी में किसी भी विवि को मिलने वाला सीसीएसयू पहला विवि है।  उन्होंने बताया सांइस एडं टेक्नोलॉजी से मिली ग्रांट से विभाग में  उपकरण लगाए जाएंगे इसके लिए विवि के बॉटनी विभाग में अत्याधुनिक लैब तैयार की गयी है। लैब में उपकरण लगने के बाद छात्रों को प्रयोग करने के लिए दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विवि नहीं जाना होगा।  लैब में अन्य विवि के छात्र यहां पर प्रयोग कर सकेंगे। उन्होंनें ने बताया  2022  अशोका विवि में विवि ने प्रजेनटेशन दिया था। इसके बाद बकाया  सांइस एडं टैक्नोलॉजी ने विवि के विभाग की जनकारी प्राप्त की। उन्होंने विवि नये कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। विवि के साख देश विदेश में तेजी से बढ रही है। इस मौके अधिकारी मौजूद रहे।