योगी सरकार के कारण उप्र में संभव हुई फिल्मों की शूटिंग:- अंकुर मान

योगी सरकार के कारण उप्र में संभव हुई फिल्मों की  शूटिंग:- अंकुर मान

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

योगी सरकार के कारण उप्र में संभव हुई फिल्मों की

शूटिंग:- अंकुर मान

मेरठ। फिल्म निर्देशक अंकुर मान ने कहा कि योगी सरकार की नीतियों के कारण ही उत्तर प्रदेश में फिल्मों की शूटिंग शुरू हुई है। अब मुंबई में फिल्मों की शूटिंग की बजाय उप्र और उत्तराखंड जैसे राज्यों में होने लगी है। इसका फायदा इन राज्यों के फिल्म कलाकारों को भी मिल रहा है। यूपी में बनने वाली फिल्म सिटी इसमें मील का पत्थर साबित होगी।
एसएनएन फिल्म एवं मैडी फिल्म्स के बैनर तले बनी हिन्दी फिल्म धागे के प्रमोशन के लिए बुधवार को पूरी टीम मेरठ पहुंची। गढ़ रोड स्थित एक रेस्टोरेंट में फिल्म के निर्माता.निर्देशक और कलाकारों ने फिल्म के बारे जानकारी दी। बागपत निवासी फिल्म निर्देशक अंकुर मान ने बताया कि इस फिल्म के निर्माण सोहन उनियाल और सरिता सिरोही है। फिल्म के मुख्य नायक मेरठ के ढडरा गांव निवासी निखिल चौधरी है। देवभूति उत्तराखंड के परिवेश में बनी इस फिल्म की शूटिंग भी उत्तराखंड के चकराता में हुई है। फिल्म के मुख्य कलाकारों में स्वाति नेगीए विदुषी मनादुलीए गुलशन तुशीर शामिल है। यह विदेश से लौटे और अपने गृह क्षेत्र देवभूमि उत्तराखंड के विकास के लिए समर्पित एक मध्यम आयु वर्ग के व्यक्ति की प्रेम कहानी है। भावना प्रधान पारिवारिक फिल्म होने के कारण इस फिल्म की विशेषता है कि लोग इस फिल्म की कहानी को अपने से जुड़ा पाएंगे।
पलायन की समस्या को उठाती है फिल्म
निर्देशक अंकुर मान ने बताया कि वह कई फिल्मों की निर्देशन टीम में शामिल रहे हैं। उत्तराखंड की खूबसूरत वादियों में फिल्माई गई यह फिल्म यहां से पलायन की दास्तां को बयां करती है। उत्तराखंड के लोग पहाड़ों को छोड़कर अन्य क्षेत्रों में जा रहे हैं कहते हैं कि पहाड़ जैसे खाली होने लग गए हैं। लोगों का कहना है कि जैसे पहाड़ को किसी की नगर लग गई है। ष्धागेष् फिल्म में इस समस्या को उठाया गया है। यह परिवार के साथ बैठकर देखने योग्य फिल्म है।
16 सितम्बर को रिलीज होगी फिल्म
अंकुर मान ने बताया कि फिल्म का ट्रेलर तथा इसके गाने जी म्यूजिक ने रिलीज किए हैं। 16 सितंबर को यह फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। फिल्म निर्माता सोहन उनियाल  सरिता सिरोही ने बताया कि जब लोग मेरे पास इस कहानी को लेकर आए तो कहानी पहले पल मेरे मन को भा गई। इसके बाद इस कहानी पर फिल्म बनाने का निर्णय लिया गया।
स्थानीय कलाकारों को मिलेगा संरक्षण
सोहन उनियाल  सरिता सिरोही और अंकुर मान ने बताया कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उप्र की कानून व्यवस्था बदल गई है। इसी कारण उप्र में फिल्मों की शूटिंग होने लगी है। इससे स्थानीय कलाकारों को भी फिल्मों में काम मिल रहा है। उप्र में फिल्म सिटी बनने के बाद फिल्मकारों को मुंबई में अपना सेटअप बनाने की जरूरत नहीं है। अब पूरी फिल्म उप्र और उत्तराखंड जैसे राज्यों में ही बन रही है।