सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में छात्रो को डेंगू, चिकनगुनिया, स्वाईन फ्लू एवं मलेरिया आदि रोगों से बचाव हेतु होम्योपैथिक दवाई पिलाई गई।

सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में छात्रो को डेंगू, चिकनगुनिया, स्वाईन फ्लू एवं मलेरिया आदि रोगों से बचाव हेतु होम्योपैथिक दवाई पिलाई गई।

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

आज दिनांक 13/9/22 को  भारतीय वैश्य संगम मेरठ और भारत विकास परिषद, एवं आयुष प्रकल्प के संयुक्त तत्वाधान में मुजफ्फरनगर स्थित लाला जगदीश प्रसाद सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में छात्रो को डेंगू, चिकनगुनिया, स्वाईन फ्लू एवं मलेरिया आदि रोगों से बचाव हेतु होम्योपैथिक दवाई पिलाई गई।

कार्यक्रम का शुभारंभ भारतीय वैश्य संगम के अध्यक्ष अम्बुज गुप्ता ,महामंत्री विपुल सिंघल तथा भारत विकास परिषद संगम के पदाधिकारियों द्वारा माँ शारदे के सम्मुख दीप प्रज्वलन एवं पुष्पार्चन के साथ किया गया। तत्पश्चात प्रधानाचार्य हरिओम सहस्त्रबुद्धे ने आगंतुक अतिथियों का परिचय कराया। विपुल सिंघल ने छात्रों को डेंगू, चिकनगुनिया, स्वाईन फ्लू एवं मलेरिया आदि रोगों के लक्षण एवं इनसे बचाव की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ये सभी रोग मच्छर एवं मक्खियों के द्वारा फैलते हैं। ये रोग संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलते हैं। अतः हम सभी को अपने आसपास साफ-सफाई  का विशेष ध्यान रखना चाहिए। हमें अपने आसपास कहीं भी गंदा पानी एकत्र नही होने देना चाहिए। इसके अतिरिक्त खानपान का विशेष ध्यान रखना तथा रोग निरोधक टीका एवं ड्रॉप्स के द्वारा भी इन संक्रामक रोगों से बचा जा सकता है।

भारतीय वैश्य संगम  के राष्ट्रीय अध्यक्ष अम्बुज गुप्ता ने कहा कि राष्ट्र निर्माण में छात्रों की भागीदारी सुनिश्चित है। लेकिन इसके लिए छात्रों का स्वस्थ होना भी अति आवश्यक है। इसी के निमित्त इस होम्योपैथिक दवाई का निःशुल्क वितरण किया जा रहा है। उन्होंने छात्रों को उक्त होम्योपैथिक दवाई के विषय में विस्तार से जानकारी दी।  अनिल सिंघल ने छात्रों को पर्यावरण संरक्षण के विषय में जानकारी देते हुए सभी से पॉलिथीन का उपयोग न करने की अपील की। इसके बाद भारतीय वैश्य संगम एवं आयुष प्रकल्प के सौजन्य से विद्यालय के समस्त छात्रों एवं शिक्षकगणों को इन रोगों से बचाव हेतु होम्योपैथिक दवाई पिलाई गई। सर्वप्रथम विद्यालय के प्रधानाचार्य को तीन बूंद दवाई के पिलाई गए।
कार्यक्रम का संचालन मनोज गर्ग ने किया। इस असवर पर भारतीय वैश्य संगम  के राष्ट्रीय अध्यक्ष अम्बुज गुप्ता, सदस्यगण विष्णुस्वरुप, सतीश बिंदल, विपुल सिंघल, अनिल सिंघल, सुभाषचन्द गुप्ता, नरेंद्र मित्तल आदि के अतिरिक्त समस्त छात्र एवं शिक्षकगण उपस्थित रहे।