कल से जिले के 102 केंद्रों पर होगी यूपी बोर्ड परीक्षा

कल से जिले के 102 केंद्रों पर होगी यूपी बोर्ड परीक्षा

दी न्यूज एशिया समाचार सेवा 

कल से जिले के 102 केंद्रों पर होगी यूपी बोर्ड

परीक्षा

 परीक्षा में 81,895 परीक्षार्थी होंगे शामिल, 95 टीमें करेंगी निगरानी

मेरठ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाएं 22 फरवरी यानी गुरूवार से  से आरंभ हो रही हैं। जो  आगामी 9 मार्च तक चलेंगी। मेरठ में 102 परीक्षा केंद्रों पर बोर्ड परीक्षाएं होंगी। परीक्षा की सारी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। कमांड कंट्रोल सेंटर से 24 घंटे सभी परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी। मेरठ में 81,895 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। मेरठ में हाईस्कूल में 41,830 परीक्षार्थी हाईस्कूल और इंटरमीडिएट में 40,065 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। एक केंद्र पर एक पाली में 4 पुलिसकर्मी मोजूद रहेंगे।

 बोर्ड द्वरा बनाए गये  4 संवेदनशील परीक्षा केंद्रों आइडियल चिल्ड्रन स्कूल मवाना, रामचंद्र इंटर कॉलेज मवाना, एनएस स्कूल ललियाना किठौर और जहांआरा स्कूल काशी परतापुर  इन चारों केंद्रों पर अतिरिक्त पुलिसबल लगाया गया है। पेपर डबललॉक में रहेंगे। हर परीक्षा केंद्र पर 4 पुलिसकर्मी भी तैनात रहेंगे। इसमें एक एसआई भी होगा। स्टेटिक मजिस्ट्रेट, सचल दल में भी पुलिसबल रहेगा। पेपर की सुरक्षा के लिए शिक्षा विभाग की 54 और जिला प्रशासन की 41 टीमें लगाई गई हैं। सभी टीमें रात को ही सेंटर्स पर बने स्ट्रांग रूम की चैकिंग के लिए जाएंगी।

 दो पालियों में आरंभ होने वाली परीक्षा के लिए छात्रों के दिशा निर्देश दिए गये है। परीक्षा केंद्र पर आधे घंटे पहले पहुंचना अनिवार्य होगा। पहली पाली की परीक्षा सुबह 8:30 बजे से 11:45 तक होगी। दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2 बजे से 5:15 तक होगी।

कमांड कंट्रोल रूम से 24 घंटे रहेगी ऑनलाइन निगरानी

मेरठ में परीक्षा के नोडल अधिकारी राघवेंद्र कुमार मिश्र ने बताया कि कॉपी के सभी पन्नों पर क्यूआर कोड लगा रहेगा। जिससे कॉपी की अदला-बदली नहीं हो सकेगी। पिछले साल की तुलना में इस साल पहली पाली की परीक्षा आधे घंटे देरी से शुरू होगी। निरीक्षकों को क्यूआर कोड और क्रमांक युक्त कंप्यूटराइज्ड परिचय पत्र मिलेगा। परीक्षा के लिए क्षेत्रीय कार्यालय पर कमांड कंट्रोल रूम बनाया गया है। जहां से सभी परीक्षा केंद्रों एवं वहां के स्ट्रांग रूमों की ऑनलाइन निगरानी 24 घंटे रहेगी। बोर्ड मुख्यालय की ओर से पहली बार क्षेत्रीय कार्यालयों पर कंट्रोल रूम की स्थापना की है।