तकनीकी उपकरण का हो सदुपयोग: राजेंद्र अग्रवाल

तकनीकी उपकरण का हो सदुपयोग: राजेंद्र अग्रवाल

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा

तकनीकी उपकरण का हो सदुपयोग: राजेंद्र अग्रवाल
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस हर व्यक्ति का काम कर रही

सरल विधि अध्ययन संस्थान में टैबलेट

वितरण कार्यक्रम का आयोजन

मेरठ। राज्य सरकार द्वारा शिक्षा में तकनीक की महत्ता को ध्यान में रखते हुये प्रत्येक छात्र को तकनीकी उपकरणों का वितरण कर रही है। जिससे विद्यार्थियों का समग्र विकास हो सके। उन्होने कहा कि तकनीकी उपकरणों का सदुपयोग होना चाहिए। नवीनतम तकनीक जिसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जोकि हर व्यक्ति का काम सरल कर रही है, जिसके केवल लाभ ही नही बल्कि कुछ हानि भी है। यह बात चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय परिसर स्थित विधि अध्ययन संस्थान में सोमवार को एलएलएम के छात्रों को टैबलेट वितरण कार्यक्रम के दौरान मेरठ हापुड़ लोकसभा सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने कही।
उन्होंने व्यक्ति की बौद्धिक क्षमता का महत्व बताते हुए कहा कि न केवल आधुनिक तकनीक बल्कि नवीनतम तकनीकी उपकरण भी मनुष्य द्वारा ही बनाये गये है। टेबलेट वितरण कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही चैधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो संगीता शुक्ला ने कही कि विधि के छात्रों का यह दायित्व है कि वह विधि के क्षेत्र में प्रतिदिन हो रहे विकास से भली भांति अवगत रहे तथा उसका पूर्ण लाभ समाज को दें। क्लीनिक लीगल एजुकेशन के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा छात्र न्यायालय परिसरों में जाकर विचाराधीन मामलों में चल रही कार्यवाही का अवलोकन करें, जिससे कि विद्यार्थियों में व्यावहारिक विधि का ज्ञान एवं आत्मविश्वास विकसित हो और वह विधिक क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर सकें। उन्होंने सभी विद्यार्थियों को राज्य सरकार द्वारा दिये गये टैबलेट प्राप्त करने पर शुभकामनाएं दी और यह विशेष ध्यान रखने को कहा कि उपकरण का सदैव सद्उपयोग ही किया जाये।
इस अवसर पर विधि अध्ययन संस्थान के समन्वयक डॉ0 विवेक कुमार जी ने स्वागत भाषण में विभाग की उपलब्धियां बताते हुये कहा कि हमारे संस्थान के विद्यार्थी उत्तर प्रदेश एवं अन्य प्रदेशों में उच्चतर न्यायिक सेवा (एचजेएस), प्रादेशिक न्यायिक सेवा, (पीसीएस-जे), अभियोजन अधिकारी (एपीओ) एवं अन्य उपक्रमों में अपनी सेवा दे रहे है तथा संस्थान के पुरातन छात्र भिन्न-भिन्न विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों में विधि शिक्षक के रूप में भी कार्य कर रहे है। समन्वयक ने कहा कि माननीय कुलपति  व विश्वविद्यालय के अथक प्रयासों से विश्वविद्यालय को छ।।ब् द्वारा ।़़ ग्रेड प्राप्त हुआ हैै। मा0 कुलपति  की प्रेरणा और प्रयासों से विधि अध्ययन संस्थान में इसी सत्र में एलएलबी तीन वर्षीय पाठ्यक्रम भी शुरू किया गया है। वर्तमान में संस्थान विधिक शिक्षा के सभी पाठ्यक्रम संचालित कर रहा है। संस्थान भविष्य में आधुनिक समय और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिये नये पाठ्यक्रम संचालित करेगा।
कार्यक्रम का संचालन श्री आशीष कौशिक ने किया एवं श्रीमति सुदेशना ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
कार्यक्रम का उद्घाटन कुलपति प्रो संगीता शुक्ला, माननीय सांसद  राजेन्द्र अग्रवाल जी, प्रो0 भूपेन्द्र सिंह, छात्र कल्याण अधिष्ठाता, प्रो बीर पाल सिंह, कुलानुशासक,  धीरेन्द्र कुमार, कुलसचिव, एवं डॉ विवेक कुमार, समन्वयक, विधि अध्ययन संस्थान, चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय परिसर, मेरठ ने माँ सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर किया।
इस अवसर पर प्रो विघ्नेश त्यागी, विभागाध्यक्ष, इतिहास विभाग एवं विभाग के शिक्षक डॉ कुसुमा वती, डॉ विकास कुमार, डॉ अपेक्षा चौधरी, डॉ धनपाल सिंह, डॉ महिपाल सिंह, डॉ सुशील कुमार, डॉ मीनाक्षी,  अरशद,अपूर्व मित्तल, तरूण कुमार सोहन वीर एवं छात्र-छात्राएं आदि उपस्थित रहें।