टीबी मुक्त का दावा पेश करने वाली पंचायतों को टीम ने किया निरीक्षण 

टीबी मुक्त का दावा पेश करने वाली पंचायतों को टीम ने किया  निरीक्षण 

दी न्यूज एशिया समाचार सेवा 

टीबी मुक्त का दावा पेश करने वाली पंचायतों को टीम ने किया

निरीक्षण 

निर्धारित प्रक्रिया पूरी होने पर मिलेगा टीबी मुक्त पंचायत का प्रमाण पत्र

 मेरठ। वर्ष 2025 तक देश को टीबी मुक्त करने के संकल्प को पूरा करने के लिए राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत तेजी से प्रयास चल रहे हैं। इसी क्रम में जनपद में पांच ग्राम पंचायतों की ओर से टीबी मुक्त पंचायत के लिए दावा पेश किया गया । जिसमें दौराला ग्राम पंचायत के गांव मछरी व अजौता गांव को मंगलवार को निरीक्षण चिकित्सकों  की टीम द्वारा किया गया। आगामी 13 व 17 फरवरी को ब्लॉक मवाना, हस्तिनापुर व जानी का टीम निरीक्षण करेगी। निर्धारित प्रकिया पूरी होने  पर पंचायत को टीबी मुक्त पंचायत को प्रमाण पत्र दिया जाएगा। 

 जिला क्षय रोग अधिकारी डा गुलशन राय ने बताया  ने बताया- जनपद की जिन  पांच पंचायतों की ओर से दावा प्रस्तुत किया गया है दौराला ब्लॉक के मछरी ,अजौता , मवाना के बहजाेदका,  हस्तिनापुर शिकस्त, जानी ब्लॉक के गांव रघुनापुर शामिल है। उनका दावा है  उनमें तीन में टीबी का एक भी मरीज नहीं हैकेवल एक पंचायत में टीबी का एक मरीज है। मंगलवार को टीबी मुक्त  पंचायतों का निरीक्षण करने के लिए डा मौ़ उमर आकिल डब्ल्यू डाडी के प्रेमी, डा नीलम सिद्धार्थ  जिला क्षय रोग विभाग से अजय सक्सेना व नेहा सक्सेना ने दौराला ब्लॉक के गांव मछरी व अजौता का निरीक्षण किया। वहां पर टीम ने जानकारी एकत्र की। वह अपनी रिपोर्ट दर्ज देगी आगामी 13 व 17 फरवरी को अन्य ब्लॉकों के गांव का टीम निरीक्षण करेगी। 

 जिला क्षय रोग अधिकारी ब्लाक स्तर से प्रस्तुत दावों का परीक्षण करने के बाद उपयुक्त पायी गयी ग्राम पंचायतों की सूची जिला पंचायती राज अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। जिला पंचायती राज अधिकारी प्रस्तुत दावों का परीक्षण कर हस्ताक्षर करने के बाद दोबारा जिला क्षय रोग अधिकारी को एक सप्ताह में उपलब्ध कराएंगे। इसके बाद सभी का सत्यापन जनपद स्तरीय टीम द्वारा किया जाएगा। सत्यापन के लिए यह टीम उस ग्राम पंचायत में सर्वे करेगी और टीबी मरीज से बातचीत करेगी कि उसे सभी लाभ मिले अथवा नहीं। ब्लाक स्तर से प्रस्तुत दावों के परीक्षण के उपरान्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा गठित जनपद स्तरीय टीम इन ग्राम पंचायतों एवं आंकड़ों का भौतिक सत्यापन का कार्य पूरा करेगी। जिलाधिकारी इन ग्राम पंचायतों को टीबी मुक्त ग्राम पंचायत घोषित करते हुए उन्हें प्रमाणपत्र प्रदान करेंगे।