कमिशनरी पर चल रहे धरने पर अमेरिका के फ्लोरिडा से आया संदेश जानने के लिए पढे........

कमिशनरी पर चल रहे धरने पर अमेरिका के फ्लोरिडा से आया संदेश  जानने के लिए पढे........

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

मेरठ।

आज 18 सितंबर 2022 को मेरठ के चौधरी चरण सिंह पार्क में त्यागी भूमिहार ब्राह्मण समाज मोर्चा के तहत अनु त्यागी के परिवार और निर्दोष युवकों को न्याय दिलाने की मांग को लेकर चल रहे अनिश्चितकालीन धरने में समाज के महान नेता प्रकाशवीर शास्त्री जी के सुपौत्र सचिन त्यागी ने नई दिल्ली से आकर धरने में समर्थन दिया और कहा समाज का युवा इस आंदोलन की रीढ़ है और आंदोलन सही दिशा में जा रहा है इसे कोई भी कमजोर नहीं कर सकता न्याय की जीत अवश्य होगी सबको संगठित होकर इसे आगे बढ़ाते रहना होगा अमेरिका के फ्लोरिडा से डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य और महान नेता प्रकाशवीर शास्त्री जी के पुत्र प्रमोद त्यागी जी ने ऑनलाइन जुड़कर आंदोलन को मजबूती से आगे बढ़ाने की बात रखी और कहा समाज सकारात्मक दिशा में अच्छे उद्देश्य को लेकर आगे बढ़ रहा है एकजुटता से और अनुशासन से आंदोलन को बढ़ाने में जीत निश्चित होगी कुलदीप त्यागी खासपुर ने कहा प्रतिदिन धरना स्थल पर आसपास के जनपदों से निरंतर आंदोलनकारियों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है यह आंदोलन एक जनआंदोलन बन चुका है सरकार ने शीघ्र अनु त्यागी व निर्दोष युवकों के साथ हुए उत्पीड़न अत्याचार करने वालों पर कार्यवाही नहीं की तो भविष्य में भयंकर परिणाम भुगतने पड़ेंगे अध्यक्षता कर रहे अशोक त्यागी ने कहा 2024 तक भी आंदोलन चलाना पड़ा तो पीछे नहीं हटेंगे बड़ी संख्या से आसपास के गांव से समाज के लोगों ने खाद्य सामग्री भी धरने में पहुंचाई ज्ञानेश्वर त्यागी ने धरने पर आज बड़ी संख्या में आए सभी आंदोलनकारियों का आभार जताया और आह्वान किया के सभी अपने गांव में धरने के लिए कमेटी स्वयं बनाएं और आंदोलन से अपने आप को जोड़ें रखें धरने का संचालन राजा त्यागी और अमित त्यागी कुड़ी ने संयुक्त रूप से किया धरने में विवेक त्यागी विनीत त्यागी दुष्यंत त्यागी मोहित त्यागी मुकेश त्यागी कृष्ण त्यागी केशव देव त्यागी अश्वनी त्यागी आदेश त्यागी अक्षित त्यागी गजेंद्र त्यागी मोहित त्यागी राजकुमार त्यागी टांडा मुनि देव त्यागी रविंद्र त्यागी सत प्रकाश त्यागी श्री प्रकाश त्यागी सभी प्रशांत त्यागी हनी त्यागी सवितुर त्यागी सवितुर किट्टू त्यागी प्रदीप त्यागी आदि रहे