फिल्में भारतीय संस्कृति और सभ्यता की छवि बदलने का काम कर रही:- अविककुक्तेश्वरानंद

फिल्में भारतीय संस्कृति और सभ्यता की छवि बदलने का काम कर रही:-  अविककुक्तेश्वरानंद

दी न्यूज एशिया समाचार सेवा

फिल्में भारतीय संस्कृति और सभ्यता की छवि बदलने का काम कर रही:-

अविककुक्तेश्वरानंद

मेरठ की डिफेंस कालोनी पहुंचे स्वानी
मेरठ। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने कहा कि बालीवुड द्वारा बहुतायत में ऐसे दृश्यों का फिल्मांकन किया रहा हैए जिससे लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं। भारतीय संस्कृति और सभ्यता की छवि बदली जा रही है। नई पीढ़ी के मन में गलत छाप छोड़ी जा रही है। इसके दृष्टिगत हमने धर्म सेंसर बोर्ड प्रस्तावित किया है। इसका जल्द ही पंजीकरण होगा। एनसीआर.दिल्ली में कार्यालय खुलेगा। सभी प्रदेशों के मुख्यालय में इसके कार्यालय भी खोले जाएंगे।
स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती पशुपति एलायज के निदेशक सुदीप अग्रवाल के डिफेंस कालोनी स्थित आवास पर पहुंचे। मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना साजिद राशिदी के राम मंदिर पर दिए गए विवादित बयान पर उन्होंने कहा कि जो उनकी प्रकृति हैए वह सिर चढ़कर बोल रही है। पहले भी यही किया गया। मंदिरों को तोड़कर उन्हें रूपांतरित करने का प्रयास किया लेकिन विफल रहे। लोगों ने आवाज उठाई और न्यायालय के सामने मुकदमा गया। उनकी पूरी कौम के पास न्यायालय में ढांचे को मस्जिद सिद्ध करने का मौका थाए तब सिद्ध नहीं कर पाए। सर्वोच्च और उच्च न्यायालय ने बार.बार मौका दियाए लेकिन पक्षकार नहीं मिले और न ही प्रमाण दे पाए। बाद में यह सिद्ध हो गया कि वहां पर कोई मस्जिद नहीं थी, मंदिर ही था। अब मंदिर स्थापित किया जा रहा है।