प्रेमिका के भाई व चाचा को मारी गोली 

 प्रेमिका के भाई व चाचा को मारी गोली 

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा

प्रेमिका के भाई व चाचा को मारी गोली 

प्रेमिका  से मिलने गांव के मंदिर पहुंचा था प्रेमी   

मेरठ। थाना हस्तिनापुर  के  गांव रहमापुर में एक युवक ने प्रेमिका के भाई व चाचा को इस कारण गोली मार दी दोनो ने  युवती से शादी के लिए इनकार कर दिया था। प्रेमिका के भाई व चाचा को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  पुलिस मामले की जांच कर आगे की कार्यवाही कर रही है।

शनिवार सुबह युवती घर से बाहर किसी मंदिर में पूजा के लिए गई थी। वहीं दूसरे गांव से उसका प्रेमी भी पहुंच गया।बताया जा रहा है कि लड़के के गांव में आने की जानकारी युवती के भाईअभिषेक , चाचा नेमपाल को हो गई। गुस्से में वो भी मंदिर पहुंचे।  तभी कार सवार तीन लोग आए और चाचा-भतीजे पर फायरिंग कर दी। फायरिंग में चाचा नेमपाल के पैर में गोली लगी है। वो मौके पर ही गिर पड़े और खून बहने लगा। वहीं भतीजे अभिषेक को भी चोट  लगी । दोनों को मेरठ के आनंद अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने बताया कि अभिषेक के गोली नहीं लगी है लेकिन उसके सिर पर बट से हमला किया गया है। काफी चोट है। उसका एमआरआई कराया जा रहा है।

ग्रामीणों ने बताया कि अक्षय की दिव्यांग बुआ की शादी पड़ोस के गांव रहमापुर में दिव्यांग से हुई है। अक्षय का गांव में अपनी बुआ के यहां आना जाना था। उक्त युवती बुआ के ससुराल के पड़ोस में रहती है। अक्षय की बुआ के यहां युवती का आना जाना था। यहीं दोनों  में प्यार हो  गया। प्रेमिका मेरठ स्थित आईएमटी कॉलेज एमबीए की छात्रा है। अक्षय भी मेरठ से ही ग्रेजुएशन कर रहा है। क़रीब दो साल से प्रेम प्रसंग कोर्ट मैरिज की परवान तक पहुंच गया।ग्रामीणों में चर्चा है कि अक्षय भाटी तीन दिन पहले भी अर्पिता से मिलने आया था। बताया गया है कि रात में सीढी लगाकर वह अर्पिता के पास जा रहा था। सीढी से पैर फिसलने पर वह गिर पड़ा। परिजनों की आंख खुल गई। और वह खेतों से होकर फरार हो गया। परिजनों ने उसे तलाशा लेकिन में हाथ नहीं आया।

एसपी देहात कमलेश बहादुर सिंह ने बताया, घायल अभिषेक की बहन का बहसूमा के ही गांव झुंझुंनी निवासी अक्षय से बातचीत थी। अब तक जो पता चला है कि उसके अनुसार दोनों ने पिछले दिनों परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर कोर्ट मैरिज की अर्जी दी थी। इसके बाद शायद शादी भी कर ली थी। लेकिन कुछ दिन बाद खुद ही शादी खारिज करा दी। इसकी जानकारी इनके परिजनों को हो गई। परिजनों ने युवती को लड़के से मिलने-जुलने पर रोक लगा दी। इसी बात से अक्षय नाराज था। शनिवार सुबह अक्षय युवती के गांव आया और वहां उसके परिजन पहुंचे तो फायर कर दिया। पीड़ित परिवार ने हमले में अक्षय, अक्षय के पिता सुनील और चचेरे भाई मोनू का नाम बताया है। पुलिस मामले की जांच कर आगे की कार्यवाही कर रही है।