देहात के 50 गांव के लिए संजीवनी बना किठौर का 50 बेड  का सरकारी अस्पताल

देहात के 50 गांव के लिए संजीवनी बना किठौर का 50 बेड  का सरकारी अस्पताल

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

देहात के 50 गांव के लिए संजीवनी बना किठौर का 50 बेड  का सरकारी अस्पताल

जून से लेकर अब तक 50  हजार  मरीजों से अधिक को दिया गया उपचार

मेरठ। ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों को वहीं पर उपचार मिले इसका प्रयास साकार होता दिखाई दे रहा है इसका उदाहरण किठौर स्थित 50 सैया संयुक्त चिकित्सालय अस्पताल आसपास के 50 गांव के मरीजों के लिए संजीवनी बना हुआ है जो अब तक उपचार करने के लिए मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल की ओर भागते थे और वही सुविधा उन्हें अपने क्षेत्र में पढ़ रहे अस्पताल में मिल रही है जून से लेकर अब तक 50000 से अधिक मरीजों का उपचार अस्पताल के द्वारा किया जा चुका है।

अस्पताल के चिकित्सा प्रभारी डॉक्टर विश्वास चौधरी ने बताया कि जून में अस्पताल सी एम ओ कार्यालय हैंडोवर किया गया था जुलाई से अस्पताल में काम करना शुरू कर दिया है। इस अस्पताल के अंतर्गत यहां उपचार दिया जा रहा है उन्होंने बताया कि अस्पताल  में  मरीज के उपचार के लिए उनके समेत 40 कर्मचारियों का स्टाफ है जिसमें की 11 चिकित्सा हैं जिसमें महिला व पुरुष भी शामिल है इस के अतिरिक्त एएनएम व स्टाफ नर्स भी मरीज की सेवाओं के लिए लगी हुई है।

 डा विश्वास चौधरी ने बताया कि अस्पताल में अब तक 209 महिलाओं का प्रसव कराया जा चुका है जिसमें 12 सामान्य व 22 सिजेरियन  आपरेशन शामिल है इसके अतिरिक्त अस्पताल में 10 महिलाओं की लेप्रोस्कोपी व पांच महिलाओं की मिनी लैब विधि से नसबंदी कराई जा चुकी है। नवंबर माह में पुरुष नसबंदी की भी सुविधा आरंभ हो रही है अस्पताल में मोती मरीजों के लिए ढाई सौ एल एम पी ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है। 24 घंटे काम कर रहा है इसके अतिरिक्त मरीजों को अस्पताल लाने के लिए और उन्हें घर तक पहुंचाने के लिए दो 108 वह दो 102 एम्बुलेंस सुविधा 24 घंटे तैयार रहती है।

डॉ विश्वास चौधरी ने लोगों से आग्रह किया है कि वह अपने आसपास के क्षेत्र में मरीज को किठौर स्थित अस्पताल में लाने का कष्ट करें जहां पर निशुल्क पूरी तरह सुविधा अत्याधुनिक मशीनों से दी जा रही है।