किसान सम्मान दिवस आत्मा योजनान्तर्गत सर छोटूराम इंजीनियरिंग कॉलेज परिसर में किया गया किसान मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन

किसान सम्मान दिवस आत्मा योजनान्तर्गत सर छोटूराम इंजीनियरिंग कॉलेज परिसर में किया गया किसान मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा ।

किसान सम्मान दिवस आत्मा योजनान्तर्गत सर छोटूराम इंजीनियरिंग कॉलेज परिसर में किया गया किसान मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन

 विधायक मेरठ कैन्ट ने दीप प्रज्वलित कर किया मेले का उद्घाटन

जिलाधिकारी व सीडीओ ने स्व0 चौ0 चरण सिंह जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर दी भावभीनी श्रद्धांजलि

किसान सम्मान दिवस के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों/फसलों में सर्वाधिक उत्पादकता प्राप्त करने वाले 92 कृषकों को किसान सम्मान प्रमाण पत्र व शॉल भेट कर किया गया सम्मानित


मेरठ |आज  भूत पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चौ0 चरण सिंह जी के जन्मदिवस के अवसर पर किसान सम्मान दिवस आत्मा योजनान्तर्गत किसान मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन सर छोटूराम इंजीनियरिंग कालेज परिसर में जिलाधिकारी दीपक मीणा की अध्यक्षता में  किया गया। किसान मेले में कृषि, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, रेशम, गन्ना, समाज कल्याण, केनरा बैंक, कृषक उत्पादक संगठन, बासमती निर्यात जोन, कृषि निवेश विक्रेताओं/निर्माताओं एवं कृषि यंत्र/ट्रैक्टर डीलर द्वारा स्टाल लगाये गये तथा अपने उत्पादों एवं योजनाओं का प्रदर्षन योजनाओं के समक्ष किया गया। मेले का उदघाटन दीप प्रज्ज्वलित कर मा0 विधायक मेरठ कैन्ट श्री अमित अगवाल जी द्वारा करके जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, अन्य अधिकारियों एवं कृषको द्वारा चौ0 चरण सिंह जी के चित्र पर माल्यापर्ण एवं पुष्प अर्पित कर भावभीनी श्रद्धाजंलि दी गयी।
 
विधायक मेरठ कैन्टअमित अग्रवाल अपने सम्बोधन में चौ. चरण सिंह  द्वारा किये गये महत्वपूर्ण कार्यो जैसे जमीदारी उन्मूलन प्रथा, सामाजिक परिवर्तन आदि के विषय में चर्चा की गयी। उनके द्वारा कृषकों को वर्तमान भौगोलिक परिस्थितियों के अनुसार कृषि में आवष्यक परिवर्तन एवं नवीन तकनीकी अपनाने का सुझाव दिया गया। प्रगतिषील कृषक  चमनपाल सिंह ग्राम सैनी, प्रषान्त कुमार ग्राम सकोती,  गजेन्द्र सिंह ग्राम दबथुवा एवं  विकास कुमार द्वारा चौ.चरण सिंह के जीवन वृत्त पर चर्चा कर श्रद्धांजली दी गयी। इस अवसर पर मेला परिसर में गोला फेंक कर प्रतियोगिता का भी शुभारंभ किया गया।

जिलाधिकारी दीपक मीणा ने कहा कि हर वर्ष 23 दिसम्बर को स्व.चौ. चरण सिंह जी की जयंती बडे धूमधाम से मनायी जाती है। किसानों के मसीहा स्व0 चौ0 चरण सिंह की जयंती पर लगाये गये किसान मेले में किसानो ने बढ-चढकर भाग लिया तथा किसान मेले में विभिन्न स्टॉल लगाये गये, जिसके माध्यम से किसानो को विभिन्न योजनाओ की जानकारी उपलब्ध करायी गयी। किसानो द्वारा पूरे वर्ष खेती में जो अच्छा प्रोडक्शन किया जाता है उसके लिए आज उन्हें सम्मानित किया गया। इस अवसर पर किसानो की समस्याओ को सुना गया। उन्होने कहा कि किसान मेले में लगाये गये स्टॉल तथा दी गयी योजनाओ की जानकारी से निश्चित ही किसानो को लाभ मिलेगा।

मुख्य विकास अधिकारी शंषाक चौधरी द्वारा चौ0 चरण सिंह जी को भावभीनी श्ऱद्धांजली अरपिर्त करते हुये मेले में बतायी गयी तकनीकियों का लाभ उठाने आवाहन कृषको से किया गया।

उप कृषि निदेषक मेरठ श्री ब्रजेष चन्द्रा द्वारा चौ0 चरण जी के जीवन वृत्तान्त एवं उनके द्वारा किये गये उल्लेखनीय कार्यो पर विस्तृत चर्चा की गयी। कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं एवं उनमें देय अनुदान के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई गयी।

डी0के0 शर्मा से0नि0 एसएमएस द्वारा जैविक खेती, उन्नत पशुपालन आदि के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई गयी। डा0 प्रमोद कुमार तोमर, वैज्ञानिक बासमती निर्यात विकास प्रतिष्ठान मोदीपुरम द्वारा बासमती धान के तकनीकी बिन्दु, धान निर्यात में भारत की सम्भावनायें एवं उच्च उत्पादकता प्राप्त करने के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई गयी।

किसान सम्मान दिवस के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों/फसलों में सर्वाधिक उत्पादकता प्राप्त वाले 92 कृषको किसान सम्मान प्रमाण पत्र एवं शाल भेट कर सम्मानित किया गया। कृषि,उद्यान, पशुपालन, व गन्ना विभाग के जनपद स्तर पर प्रथम पुरषकार हेतु कुल 16 एवं द्वितीय पुरषकार हेतु 16 कृषको को सम्मानित किया गया। कृषि एवं सभी सम्बद्ध विभागों के कुल 60 कृषको को विकास खण्ड स्तरीय प्रथम पुरषकार हेतु सम्मानित किया गया।

जिला उद्यान अधिकारी एवं जिला गन्ना अधिकारी द्वारा अपनी विभागीय योजनाओं उनमें देय अनुदान के विषय में कृषको को अवगत कराया गया। उप कृषि निदेषक मेरठ द्वारा मेले में प्रतिभाग करने वाले सभी कृषको एवं अधिकारियों को आभार प्रकट किया। अंत में जिलाधिकारी महोदय द्वारा मेले में आये हुये किसानो को धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

इस अवसर पर कृषि एवं सम्बद्ध विभागों के अधिकारी, कर्मचारी लगभग 1000 कृषको द्वारा कृषि मेला में प्रतिभाग किया गया।