पुलिस लाइन स्थित सभागार में पुलिस अधीक्षक नगर पीयूष सिंह  ने मेरठ स्थित होटल व्यवसाइयों के  साथ बैठक की।

पुलिस लाइन स्थित सभागार में पुलिस अधीक्षक नगर  पीयूष सिंह  ने मेरठ स्थित होटल व्यवसाइयों के  साथ बैठक की।

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

आज दिनांक 19 सितंबर 2022 को पुलिस लाइन स्थित सभागार में पुलिस अधीक्षक नगर श्रीमान पीयूष सिंह  ने मेरठ स्थित होटल व्यवसाइयों के  साथ बैठक की।
पुलिस अधीक्षक नगर ने मेरठ के होटल व्यवसायियों से अपने प्रतिष्ठान को सराय एक्ट में पंजीकृत कराने के लिए ज़ोर दिया। मेरठ में बने सभी होटल व लॉज की सूचि प्रशासन को उपलब्ध हो सके इस आशय के साथ यह निवेदन किया गया।  हाल ही में लखनऊ के होटल लेनोवो में लगी आग का हवाला देते हुए सभी होटल व लॉज व्यवसायियों से अग्निशमन यंत्र लगाने के लिए कहा गया और तत्पश्चात अग्निशमन विभाग द्वारा अनापत्ति प्रमाण पत्र लिए जाने की बात कही। विद्युत सुरक्षा विभाग से भी पंजीकरण करा अनापत्ति प्रमाण पत्र लिए जाने पर कहा गया। होटल लेनोवो में एसी के माध्यम से लगी आग को दृष्टिगत रखते हुए सभी को इस विषय पर समझाया गया। सभी होटल में प्रवेशद्वार, रिसेप्शन, पार्किंग एरिया, खुले कॉरिडोर व लिफ्ट में सीसीटीवी कैमरे तथा भवन के बाहर मुख्य मार्ग सड़क की ओर कैमरे लगाने पर जोर दिया ताकि होटल में हो रही गतिविधियों के साथ-साथ सड़क पर से गुजर रहे लोगों की निगरानी  की जा सके। सभी होटल व लॉज पर रखे गए गार्ड को सिक्योरिटी एजेंसी के माध्यम से रखने के लिए कहा गया ताकि  सिक्योरिटी एजेंसी के द्वारा आये गार्ड की जानकारी उपलब्ध रहे।  होटल में बुकिंग के समय आए ग्राहक का पहचान पत्र अवश्य लिया जाए तथा संदिग्ध  पाए जाने पर उसकी सूचना अपने निकटतम चौकी इंचार्ज अथवा थाने को दी जाए। पुलिस अधीक्षक नगर ने आश्वासन दिया कि जब तक किसी कमरे में पुख्ता सूचना किसी गलत शख्स के होने की नहीं मिलेगी तब तक कोई भी पुलिसकर्मी कमरों को खुलवाने के लिए नहीं कहेगा। होटल के रिसेप्शन तक पुलिस का हस्तक्षेप रहेगा तथा पुलिस रिसेप्शन पर रखे रजिस्टर तथा  होटल में रुके ग्राहकों के पहचान पत्र की जांच करने आ सकते हैं। मेरठ होटेलिएर्स एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के महामंत्री विपुल सिंघल ने आश्वासन दिया कि मेरठ के सभी होटल व लॉज नगर निगम द्वारा पंजीकृत है, तथा नगर निगम के माध्यम से लाइसेंस प्राप्त किए हुए हैं जहां से मेरठ के समस्त होटल व लॉज की सूचना विभाग को मिल सकती है। निवेदन किया गया की अग्निशमन विभाग द्वारा होटल व लॉज को कार्यशीलता प्रमाणपत्र पूर्व की भांति दिया जाए। व्यवसायिक प्रतिष्ठान पर लगे अग्निशमन यंत्रों की जांच कर तथा कम पाए जाने पर उन्हें सलाह दी जाए कि कितने यंत्र और किस प्रकार के यंत्र और लगाने हैं ताकि किसी भी अनहोनी के समय वह यंत्र आग बुझाने का काम कर सकें। होटल करनैल से सरदार नरेंद्र सिंह ने कहा कि सभी ग्राहकों का पहचान पत्र सभी होटल द्वारा लिया जाता है तथा उनके संदिग्ध पाए जाने पर उनकी सूचना भी समय-समय पर थाने में पुलिस चौकी पर दी  जाती है ।
इस मौके पर मेरठ होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के महामंत्री विपुल सिंघल, सरदार नरेंद्र सिंह, विपिन अग्रवाल, रंजीत सिंह, राहुल छाबड़ा, अनिल अग्रवाल, अशित कौशिक सहित मेरठ के 100 से अधिक होटल व्यवसाई मौजूद रहे।