रहीस गैंग के तीन गुर्गे पकड़े ।

रहीस गैंग के तीन गुर्गे पकड़े ।

रईस गैंग के तीन शूटर दबोचे 

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा ।



  लखनऊ पुलिस से हुई बदमाशों की मुठभेड़

रईश गैंग के तीन शूटर दबोचे गए
रेलवे ठेकेदार की हत्या में थे शामिल

लखनऊ।
राजधानी लखनऊ के कैंट थाना क्षेत्र के पिपराघाट के रोड के पास रविवार सुबह पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन बदमाशों को गोली लगी है। घायल बदमाशों के बारे में बताया जा रहा है कि तीनों रेलवे ठेकेदार वीरेंद्र ठाकुर की हत्या में शामिल थे। तीनों बदमाशों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम था। पुलिस ने घायल बदमाशों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं इस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश की जा रही है।
डीसीपी पूर्वी प्राची सिंह के मुताबिक रविवार सुबह सूचना मिली की कैंट इलाके में बिहार के कुख्यात रईस गैंग के शूटर घूम रहे हैं, जो कि किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। सूचना मिलने पर क्राइम ब्रांच आशियाना और कैंट थाने की पुलिस को चेकिंग के लिए लगाया गया।
सुबह करीब 6 बजे पिपराघाट रोड पर एक बाइक पर सवार तीन बदमाश देखे। तीनों ने पुलिस को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी फायरिंग तीनों बदमाश घायल हुए घायलों में कासिफ, फैसल और मुन्ना शामिल हैं। तीनों को पुलिस ने इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया है। आरोपियों के पास से तमंचा, पिस्तौल और बैग बरामद हुआ।
तीनों ने की थी वीरेंद्र ठाकुर की हत्या
डीसीपी पूर्वी प्राची सिंह के मुताबिक कासिफ, फैसल और मुन्ना तीनों ने मिलकर फिरदौस के साथ रेलवे ठेकेदार वीरेंद्र ठाकुर को घर में घुसकर गोलियां मारी थी। यह तीनों फिरदौस के साथ वीरेंद्र के घर में घुसे थे और उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। किरण ठाकुर हत्याकांड का मास्टरमाइंड बिट्टू जायसवाल सोमवार को कैंट इलाके में ही हुए पुलिस मुठभेड़ में घायल हुआ था। इस हत्याकांड में पुलिस अभी मुख्य आरोपी फिरदौस और वीरेंद्र ठाकुर की पहली पत्नी प्रियंका की तलाश कर रही है।