ग्रामीण समाज विकास केंद्र के रिसोर्स ग्रुप ने भी टीबी के खिलाफ छेड़ी जंग,चलाया घर-घर अभियान

ग्रामीण समाज विकास केंद्र के रिसोर्स ग्रुप ने भी टीबी के खिलाफ छेड़ी जंग,चलाया घर-घर अभियान

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा ।

क्षय रोग उन्मूलन में जनता की भागीदारी पर कार्य कर रही है संस्था  :मेहर चंद
मेरठ,6 अगस्त 2022।देश में टीबी फैलने का मुख्य कारण इस बीमारी के लिए लोगों का सचेत न होना और इसे शुरुआती दौर में गंभीरता से न लेना है। टीबी किसी को भी हो सकती है, लेकिन नियमित दवा के सेवन से यह ठीक भी हो जाती है। इसी उद्देश्य से सामाजिक संस्था ग्रामीण समाज विकास केंद्र काम कर रही है। अभी तक संस्था के मोबिलाइजर लोगों को टीबी के प्रति जागरूक करते दिख रहे थे, लेकिन अब संस्था द्वारा बनाए गए रिसोर्स ग्रुप ने भी टीबी के खिलाफ जंग छेड़ दी है। रिसोर्स ग्रुप ने घर-घर सर्वे अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करने की ठानी है।
संस्था के सचिव मेहर चंद ने बताया - संस्था मेरठ जनपद के रजपुरा ब्लॉक के 50 गाँवों में क्षय रोग उन्मूलन के लिए कार्य कर रही है। संस्था ने इसके लिए गाँवों में रिर्सोस ग्रुप गठित किये हैं। अब तक 63 समूहों का गठन किया जा चुका है। यह रिर्सोज ग्रुप हर महीने भावी योजना बनाते हैं और उसी के अनुसार गाँव में क्षय रोग उन्मूलन-नियंत्रण के लिए कार्य करते हैं। ग्राम औरंगाबाद में 12 महिलाओं का एक समूह दो जून 2022 को गठित किया गया।
महिला रिर्सोज ग्रुप ने ग्राम औरंगाबाद में क्षय रोगी खोजों अभियान के तहत 30 घरों का भम्रण किया। भ्रमण के दौरान रिर्सोज ग्रुप ने परिवारों में मिलने वाले सदस्यों को टीबी के लक्षण व टीबी से बचाव के उपाय बताये। रिर्सोज ग्रुप के सदस्यों ने बताया गया कि सरकार टीबी के मरीज की निशुल्क जांच व निःशुल्क इलाज मुहैया करा रही है और टीबी के मरीज को 500 रुपये प्रति माह खाते में देने के साथ पोषण भी उपलब्ध करा रही है।
मेहर चंद ने बताया – संस्था को ग्रामीण पूरा सहयोग कर रहे हैं, ग्रामीणों का कहना है सभी महिलाएं अच्छा कार्य कर रही हैं। वह भी टीबी उन्मूलन के इस कार्य में सहायता करेगें। घर-घर सर्वे के दौरान ग्रामीण समाज विकास केन्द्र के कोऑर्डिनेटर अमित और मोबिलाइजर राहुल समूह के साथ सहयोग में रहे।