जालसाजी करके 44 करोड़ रुपए में कर दिया भू माफियाओं ने वक्फ की जमीन का सौदा

 जालसाजी करके 44 करोड़ रुपए में कर दिया भू माफियाओं ने वक्फ  की जमीन का सौदा

 जालसाजी करके 44 करोड़ रुपए में कर दिया भू माफियाओं ने वक्फ की जमीन का सौदा

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा ।

 प्रशासन की आंख में झोंक रहे थे धूल, प्रशासन की नाक के नीचे सडक बनाने का कार्य जोरों पर
 शिकायत करने पर एमडीए की टीम ने जेसीबी मशीन से की ध्वस्त दिवारे

मेरठ। मेरठ में सरकारी जमीन कब्जाने का थमने का नाम नहीं ले रहा है। भूमाफियाओं ने जालसाजी कर वक्फ की जमीन का सौदा 44 करोड में कर डाला। इतना ही नहीं प्रशासन की नाक के नीचे उक्त जमीन पर सडक बनाने का कार्य जारी है। रविवार को एमडीए की टीम ने जेसीबी के सहारे उक्त जमीन पर किये जा रहे निर्माण कार्य को ध्वस्त कर दिया।


 करनाल हाईवे स्थित कंकरखेड़ा नंगलाताशी मे ड्रीम सिटी से पहले वक्फ सैयद असगर हुसैन 2361 जमीन स्थित है जिसको भू माफिया ज़िया अब्बास एअशोक मारवाड़ी ओर रफाकत अली गांधी व अन्य साथियों ने वक्फ बोर्ड की जमीन पर कब्जा कर रखा है और जालसाजी करके अब इस जमीन का सौदा भी कर चुके हैं कुछ वर्ष पहले भी यह जमीन काफी चर्चा में रही है जिस पर काफी विवाद भी हो चुके हैं


 कई बार गोलियां भी चल चुकी हैं। जिसमें अशोक मारवाड़ी ओर ज़िया अब्बास जेल भी जा चुका है और 2017 में इसी जमीन के मामले को लेकर थाना कंकरखेड़ा में एक मुकदमा भी दर्ज हुआ था जिसमें मुख्य आरोपी जिया अब्बास है मगर एक बार फिर इन भू माफियाओ ने सांठगांठ से 44 करोड़  रुपए में जमीन का सौदा कर दिया । 
 
 
 जिसमें रोज जमीन पर मट्टी के डंपर द्वारा वक्फ की जमीन में सड़क बनाने का कार्य चल रहा था प्रशासन की नाक के नीचे रातो रात मिट्टी डाली जा रही थी जिसमें बताया जा रहा है की भू माफिया अशोक मारवाड़ी ,ज़िया अब्बास ओर रफाकत अली गांधी, के साथ सत्ता में बैठे कई नेता भी उसके पीछे हैं इस जमीन पर काफी नेताओं की नजर गड़े हुए हैं
 
रविवार को क्षेत्रीय एमडीए जेई व उनकी टीम थाना कंकरखेड़ा पुलिस के साथ में जेसीबी मशीन लेकर भू माफिया ज़िया अब्बास ओर रफाकत अली गांधी के द्वारा कब्जा कर रहे हैं वक्फ़ बोर्ड की जमीन पर पहुंचे और अवैध बन रही कॉलोनी की दीवारों को तोड़ा जिस वक्त यह कार्रवाई हो रही थी उस वक्त वहा मौजूद सभी भूमाफिया  वहां से भाग निकले । अब देखना यह है मेरठ प्रशासन इन सभी भूमाफिया पर कब कार्रवाई करेगा और उन्हें सलाखों के पीछे डालेगा।