मुख्य अतिथि डिप्टी CM बृजेश पाठक व पूर्व डिप्टी सीएम माननीय डॉ दिनेश शर्मा जी रहे

मुख्य अतिथि डिप्टी CM बृजेश पाठक व पूर्व डिप्टी सीएम माननीय डॉ दिनेश शर्मा जी रहे

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

दिनांक 22 सितंबर 2022 को लखनऊ में उत्तर प्रदेश टेंट कैटरर्स एंड डेकोरेटर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय कुमार , चेयरमैन पवन तलवार ,महामंत्री नवीन कुमार अग्रवाल संबद्ध ऑल इंडिया टेंट डीलर वेलफेयर ऑर्गेनाइजेशन के  चेयरमैन अनिल आज़ाद , अध्यक्ष विपुल सिंघल  ,  महामंत्री सरदार करतार सिंह कोचर   के सानिध्य में इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में व्यापारी रत्न समारोह कार्यक्रम का आयोजन किया गया । मुख्य अतिथि डिप्टी सीएम माननीय श्री बृजेश पाठक जी व पूर्व डिप्टी सीएम माननीय डॉ दिनेश शर्मा जी रहे। 300 व्यापारियों को व्यापारी रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया।
विपुल सिंघल राष्ट्रीय अध्यक्ष आल इंडिया टेंट डीलर वेलफेयर आर्गेनाईजेशन द्वारा डिप्टी सीएम माननीय श्री बृजेश पाठक जी के समक्ष टेंट व्यवसाई की समस्याएं रखी गई। 
1.  टेंट व्यवसाइयों का ट्रक की नो एंट्री के नाम पर उत्पीड़न न किया जाए। जिस प्रकार सरकारी कार्य हेतु लिखकर सरकारी गाड़ियां नो एंट्री में जा सकती है उसी प्रकार वैवाहिक कार्यक्रम हेतु लिखकर विवाह से संबंधित टेंट के सामान की गाड़ी नो एंट्री में जाने दिया जाए ।
2.  आवास विकास , विकास प्राधिकरण द्वारा ठेके पर छोड़े गए सामुदायिक केंद्रों को निरस्त कर उन्हें आम टेंट व्यापारी के लिए रखा जाए ताकि कोई भी टेंट व्यापारी / आम व्यक्ति उनमें जाकर अपना काम कर सके ,अपनी रोजी रोटी कमा सके ।

3. प्रदेश के सभी  विकास प्राधिकरण सभी भवनों को नियमों के विपरीत बनने देते है और उसके उपरांत उन भवनों में किसी प्रकार का अग्निशमन अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं मिल पाता है । पूर्व बने सभी भवनों को नियमित किया जाए ताकि उनमें अग्निशमन अनापत्ति प्रमाण पत्र लिया जा सके। लोगों की जान भी बचेगी और व्यापारी  अपना व्यापार भी कर सकेंगे।
4. साउंड के व्यापारियों को ध्वनि प्रदूषण के नाम पर धार्मिक स्थलों पर विशेषकर जन्माष्टमी दशहरा रामलीला जैसे बड़े पर्व पर प्रताड़ित न किया जाए ,दंडित न किया जाए। 

5. सभी व्यापारियों को सीजीएचएस की दरों पर निजी अस्पतालों में सरकारी राज्य व प्रदेश कर्मचारियों की भांति उपचार कराने की सुविधा प्रदान की जाए ताकि उनका उपचार न्यूनतम दरों पर हो सके और साथ ही आयुष्मान के तहत ₹1000000 का बीमा कराया जाए ।

6. टेंट व्यवसायी  पर लगने वाले टैक्स की दर को 18% से घटाकर 5 % करने की मांग की गई।