कंकरखेड़ा में पकडी गयी नकली टाटा नमक बनाने की फैक्ट्री

कंकरखेड़ा में पकडी गयी नकली टाटा नमक बनाने  की फैक्ट्री

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

कंकरखेड़ा में पकडी गयी नकली टाटा नमक बनाने की फैक्ट्री

पुलिस ने छापा मारकर दो अभियुक्त समेत माल के साथ किया गिरफ्तार
मेरठ । शहर में नकली खाद्य पदार्थ बनाए जा रहे है। बुधवार को कंकरखेड़ा  पुलिस ने एक मकान पर छापा नकली टाटा नमक बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पुलिस को मौके से टाटा नमक के नकली छपे 350 खाली पैकेट और टाटा नमक के 300 पैकेट मिले हैं। साथ ही पैकिंग का सामान मिला है।पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है।
बुधवार को थाना कंकरखेड़ा पुलिस को किसी ने फोन पर नकली नमक बनाने की फैक्ट्री की जानकारी दी थी। मुखबिर की सूचना पर थाना पुलिस कंकरखेड़ा में पहुंची। जहां राहुल गुप्ता नामक व्यक्ति के मकान में टाटा नमक के नाम पर नकली नमक पैकेटों में भरकर बेचने का काम चल रहा था।
मकान मालिक राहुल गुप्ता के साथ सहयोगी राहुल दोनों मिलकर इस गोरखधंधे को चला रहे थे। पुलिस ने दोनों से पूछताछ की तो आरोपियों ने पूरा सच उगल दिया। पुलिस ने दोनों को मौके से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को मौके से टाटा नमक के नकली छपे 350 खाली पैकेट और टाटा नमक के 300 पैकेट मिले हैं। साथ ही पैकिंग का सामान मिला है।
आरोपियों ने पुलिस को इस काले धंधे के बारे में बताया। कैसे वो टाटा असली ब्रांड के नाम का इस्तेमाल करके उसमें टाटा का सस्ता नमक भरकर बेचते थे। राहुल ने बताया कि वो बाजार से 2 से 3 रुपए किलो प्रति पैकेट वाला सस्ता नमक खरीदते थे। ब्लक में नमक के पैकेट खरीद कर फैक्ट्री में लाते थे। साथ ही टाटा नमक के असली पैकेटों की डिजायन पर अपने प्रिंटर से बाजार में नकली पैकेट छपवाते थे।
इसके बाद फैक्ट्री में टाटा के छपे नकली पैकेटों में 2 रुपए किलो वाला सस्ता टीटा नमक भरकर उसे पैक कराकर बेचते थे। माल मेरठ शहर, देहात सहित पास के जिलों में भी सप्लाई करते। नकली नमक बेचकर उन्हें अच्छा मुनाफा हो रहा था। पिछले एक साल से दोनों मिलकर नकली नमक बेचने का कारोबार कर रहे थे।
एसएसपी रोहित सिंह सजवाण का कहना है कि टाटा के नाम पर टाटा नमक बेचने की फैक्ट्री चलती मिली है। दो लोग राहुल गुप्ता और राहुल को मौके से गिरफ्तार किया है। दोनों को पुलिस ले आई है। मौके पर खाद्य विभाग की टीम ने जांच के लिए नमक की सैंपलिंग की है।
टाटा कंपनी की टीम भी मौके पर जांच के लिए पहुंची। दोनों लोगों पर कॉपीराइट अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई हो रही है। आरोपियों को जेल भेजने की तैयारी है।