'डेटॉल बनेगा स्वस्थ इंडिया' पहल के अंतर्गत- भारत के सबसे बड़े हाइजीन ओलंपियाड के दूसरे संस्करण की घोषणा

'डेटॉल बनेगा स्वस्थ इंडिया' पहल के अंतर्गत- भारत के सबसे बड़े हाइजीन ओलंपियाड के दूसरे संस्करण की घोषणा

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

'डेटॉल बनेगा स्वस्थ इंडिया' पहल के अंतर्गत-
भारत के सबसे बड़े हाइजीन ओलंपियाड के दूसरे संस्करण की घोषणा
नोएडा। विश्व की जानी-मानी कंज्यूमर हेल्थ एवं हाइजीन कंपनी रेकिट ने अपनी प्रमुख मुहिम 'डेटॉल बनेगा स्वस्थ इंडिया' के अंतर्गत भारत में सबसे बड़े हाइजीन ओलंपियाड के रूप में डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड के दूसरे संस्करण की घोषणा की है।
कार्यकारी उपाध्यक्ष (रेकिट दक्षिण एशिया) गौरव जैन ने कहा, बच्चों को बीमारियों से बचाने में स्वच्छता के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से यह अनूठी पहल बच्चों को स्वच्छता और अच्छी आदतों के बारे में सीखने के लिए एक इंटरैक्टिव प्लेटफॉर्म प्रदान करती है। रेकिट में हमारा मानना है कि ज्ञान में शक्ति है और इस संदर्भ में स्वच्छता की जानकारी बच्चों को स्वास्थ्य और कल्याण के महत्व को समझने में काफी हद तक मदद कर सकती है। हम डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड के पहले संस्करण के नतीजे देखकर बहुत खुश हैं, इसने 10 मिलियन बच्चों के जीवन को बदलकर रख दिया है। इसकी सफलता ने हमें अपने दूसरे संस्करण को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया है और हमें यकीन है कि इस साल हम 30 मिलियन से अधिक बच्चों तक पहुंचेंगे और इसका प्रभाव काफी व्यापक होगा1’’
अपोलो हॉस्पिटल्स एंटरप्राइज लिमिटेड के संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. प्रताप सी रेड्डी ने कहा, अपोलो फाउंडेशन स्वास्थ्य के मामले में समानता हासिल करने और सभी नागरिकों को अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करने के लिए हमेशा प्रयासरत रहा है। वंचितों के लिए अनूठी पहल के लिए जाने जाने वाले रेकिट के साथ हमारी पार्टनरशिप ने पिछले साल भारत में पहला हाइजीन प्ले पार्क बनाया था, जिससे अरागोंडा के ग्रामीण लोगों के बीच निवारक स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ा था। आज हमें रेकिट के साथ हाथ मिलाने पर गर्व है। उन्होंने डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड का दूसरा संस्करण शुरु किया है, जो सभी 28 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में पहुंचेगा। हमारा मानना है कि स्वच्छता और स्वास्थ्य के बीच आंतरिक संबंध के बारे में जानकारी और जागरूकता से छात्रों को सशक्त बनाने से हम एक स्वस्थ और मजबूत राष्ट्र का निर्माण कर पाने में सफल होंगे।‘’
इंडिया सेनिटेशन कोएलिशन की अध्यक्ष और पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित सुश्री नैना लाल किदवई ने कहा, इंडिया सेनिटेशन कोएलिशन में हम मानते हैं कि भारत ने स्वच्छ भारत मिशन के माध्यम से सूखे और गीले कचरे को अलग-अलग करने के मामले में काफी प्रगति की है, जिसमें भारत के छह लाख से अधिक गांव शामिल हैं। इसके साथ-साथ हमें बेहतर स्वच्छता सुनिश्चित करने की आवश्यकता है, क्योंकि अनुभव बताते हैं कि बच्चों में स्वच्छ आदतें कई बीमारियों की रोकथाम में मदद करती हैं। अध्ययनों ने बार-बार होने वाली बीमारियों में कमी और साबुन से नियमित रूप से हाथ धोने के बीच सीधा संबंध दिखाया है, विशेष रूप से भोजन से पहले, शौच के बाद और बच्चों को दूध पिलाने से पहले। हालांकि, कई स्थितियों में भारत में स्वच्छ सुविधाओं तक पहुंच और आवश्यक आचरण के लिए समर्थन की कमी है। डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड 2.0 अपने प्रमुख अभियान डेटॉल बनेगा स्वस्थ इंडिया के अंतर्गत बच्चों के बीच अच्छी बुनियादी स्वच्छता की आदतों का समर्थन करता है और उन्हें जीवन भर चलने वाली सकारात्मक स्वच्छता संबंधी आदतें अपनाने के लिए प्रोत्साहित करता है। यह स्वस्थ भारत की दिशा में एक कदम है।”
ग्रामालय के संस्थापक और सीईओ, पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित श्रीसाई दामोदरन ने कहा, डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड 2.0 स्वच्छता और स्वास्थ्य पर जागरूकता और शिक्षा को बढ़ावा देने की दिशा में रेकिट की एक सराहनीय पहल है। इसका मकसद भारत के हरेक बच्चे को अच्छे स्वच्छता व्यवहार और आदतों को बेहतर ढंग से समझने के लिए सक्षम बनाना है। यह ओलंपियाड छात्रों को स्वच्छता के बारे में सीखने और अपनी जीवनचर्या में अपनाने के लिए प्रेरित करेगा।
प्लान इंडिया बोर्ड के अध्यक्ष राठी विनय झा ने कहा, प्लान इंडिया डेटॉल बनेगा स्वस्थ इंडिया पहल के लिए रेकिट के साथ अपनी दीर्घकालिक साझेदारी को काफी अहम मानता है। डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड 2.0 में प्रोजेक्ट ने स्वच्छता की आदतों में सुधार की दिशा में कई अहम कदम उठाए हैं, जिससे 30 मिलियन से अधिक स्कूली बच्चे स्वस्थ भविष्य में योगदान कर रहे हैं।
पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित, भारतीय सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ, विद्वान और पर्यावरणविद् डॉ. इंदिरा चक्रवर्ती ने कहा, स्वच्छता स्वास्थ्य और कल्याण का एक अत्यंत महत्वपूर्ण पहलू है, और डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड 2.0 निश्चित रूप से एक बढ़िया पहल है, जो बच्चों को स्वच्छता के महत्व के बारे में शिक्षित कर रही है। मैं इस पहल का हिस्सा बनकर काफी सम्मानित महसूस कर रही हूं, यह पहल देश भर के लाखों बच्चों के जीवन में एक बड़ा बदलाव ला रही है, जो हमारे देश के भावी नागरिक बनने जा रहे हैं।
बीते वर्ष, पूरे भारत में 10 मिलियन बच्चों तक पहुंचने की सफलता से उत्साहित, डेटॉल हाइजीन ओलंपियाड 2.0 अपने मिशन को नए मुकाम पर पहुंचाने के लिए तैयार है।  पहली बार, ओलंपियाड देश के सभी 28 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में 30 मिलियन से अधिक बच्चों तक पहुंचेगा। यह पहल 2500 गुरुकुलों और अन्य धार्मिक शिक्षा स्कूलों के छात्रों को भी अपनी मुहिम में शामिल करेगी और अलग-अलग भाषा के दर्शकों तक पहुंच सुनिश्चित करने के लिए इसका संस्कृत अनुवाद शामिल किया जाएगा। यह पहल सुनिश्चित करेगी कि भारत के सभी बच्चे हाथ धोने के सबसे अच्छे तरीकों को समझे और सीखें तथा अपनी दिनचर्या में स्वच्छता और अच्छी आदतों को अपनाएं।  डेटॉल स्कूल स्वच्छता पाठ्यक्रम के इस स्वाभाविक विस्तार के साथ यह पहल रेकिट के इस भरोसे को और मजबूत करती है कि बेहतर स्वास्थ्य की दिशा में भारत की यात्रा को आगे बढ़ाने के लिए हमें स्वच्छता संबंधी कमियों को दूर करना होगा।