चीन में फिर पैदा हुआ सांसों का संकट

चीन में फिर पैदा हुआ सांसों का संकट

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

चीन में फिर पैदा हुआ सांसों का संकट

देश के कई राज्यों में अलर्ट, मुस्तैद हुआ स्वास्थ्य विभाग
नई दिल्ली (एजेंसी)।
कुछ समय पहले ही दुनिया ने कोरोना महामारी से निजात पाई थी लेकिन अब एक बार फिर से पड़ोसी देश चीन में नई बीमारी ने दस्तक दे दी है। चीन में फैल रही इस रहस्यमयी बीमारी ने बच्चों को अपनी जद में लेना शुरू कर दिया है। चीन की इस बीमारी को लेकर डब्लूएचओ भी सख्त हो गया है और इस बीमारी को लेकर पूरी नजर रख रहा है।
चीन में फैल रही नई बीमारी के संक्रमण के कारण चीन के अस्पतालों में बच्चों की संख्या में लगातार इजाफा दिखाई दे रहा है। इस नए वायरस को रहस्यमयी निमोनिया वायरस इसलिए कहा जा रहा है, क्योंकि इसके कुछ लक्षण आम निमोनिया से मिलते-जुलते हैं और कुछ अलग भी हैं। वहीं, दूसरी ओर चीन के इस रहस्यमयी निमोनिया में बच्चों को बिना बलगम वाली खांसी के साथ ही तेज बुखार और फेफड़ों में सूजन की शिकायत हो रही है।  
भारत में भी कई राज्य अलर्ट पर
चीन में विशेषकर बच्चों में सांस संबंधी बीमारियों में हो रही तेजी से बढ़ोतरी के मद्देनजर केंद्र सरकार ने तैयारियों की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। केंद्र सरकार से मिले निर्देश के बाद राजस्थान, गुजरात, उत्तराखंड, कर्नाटक और तमिलनाडु सहित पांच राज्यों ने अपने स्वास्थ्य सेवा बुनियादी ढांचे को अलर्ट पर रखा है।
राजस्थान ने जारी की एडवाइजरी
चीन में फैल रही रहस्यमयी बीमारी को लेकर भारत के कई राज्य सतर्क हो चुके हैं। इसी क्रम में राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने अपने कर्मचारियों को सतर्क रहने और त्वरित प्रतिक्रिया दल बनाने की सलाह दी। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने अपनी एडवाइजरी में संबंधित अधिकारियों से बीमारी की रोकथाम और उपचार के लिए एक कार्य योजना तैयार करने को कहा है।
कर्नाटक स्वास्थ्य विभाग ने भी नागरिकों को बीमारियों के संबंध में मौसमी फ्लू के प्रति सचेत रहने के लिए एक सलाह जारी की है।
उत्तराखंड भी अलर्ट पर
उत्तराखंड के स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर राजेश कुमार ने इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने मेडिकल टीमों से बच्चों में निमोनिया और इन्फ्लूएंजा के लक्षणों पर नजर रखने को कहा है। उत्तराखंड में अभी तक इस तरह का कोई मामला नहीं है, लेकिन एहतियात के तौर पर सभी जिलों को भी अस्पतालों में विशेष निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं।
कर्नाटक सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को किया अलर्ट
कर्नाटक सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने चीन में बच्चों में सांस संबंधी बीमारियों में वृद्धि की खबरों के बाद पूरे राज्य में अपने स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे को अलर्ट पर रखा है। कर्नाटक सरकार ने यह फैसला केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के बाद लिया है।
गुजरात सरकार हुई सतर्क
गुजरात सरकार ने भी एक सर्कुलर जारी किया है, जिसमें सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रहने का आदेश दिया गया है। अहमदाबाद सिविल अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर राकेश जोशी ने कहा कि चीन में फैल रहे रहस्यमय वायरस को ध्यान में रखते हुए सरकारी अस्पतालों ने एक बार फिर तैयारी शुरू कर दी है।