सीएचओ अब एप के जरिए ऑनलाइन लगा रहे हाजिरी

सीएचओ अब एप के जरिए ऑनलाइन लगा रहे  हाजिरी

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा।

सीएचओ अब एप के जरिए ऑनलाइन लगा रहे

हाजिरी

 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों से हुई शुरुआत

 अटेंडेंस मैनेजमेंट सिस्टम पर लग रही उपस्थिति

नोएडा, 23 नवम्बर 2022 । स्वास्थ्य कर्मी समय से ड्यूटी पर पहुंचे, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग संजीदा है। स्वास्थ्य कर्मियों को एप के जरिए ही हाजिरी लगानी होगी। इसके लिएराष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) ने अटेंडेंस मैनेजमेंट सिस्टम तैयार करवाया है।मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. सुनील कुमार शर्मा ने बताया शासन के निर्देश पर एप के जरिए सबसे पहले सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों (सीएचओ) की हाजिरी लगनी शुरू हुई है।

सीएमओ ने डा. शर्मा ने बताया  जनपद में फिलहाल72 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों पर तैनात हैं। सभी को निर्देश जारी किया गया है कि रोजाना सेंटर पर समय से पहुंचकर एप के जरिए अपनी हाजिरी लगाएं। एप डाउनलोड करने के लिए सभी सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों को लिंक दिया गया है। एप में सीएचओ की तैनाती के हिसाब से लोकेशन फीड है। संबंधित सेंटर पर केवल सौ मीटर की परिधि में रहने पर ही मोबाइल लोकेशन को ट्रेस करके हाजिरी लगाएगा। उन्होंने बताया शासन की ओर से सीएचओ के ड्यूटी के समय में परिवर्तन किया गया है। पहले जहां उन्हें सुबह नौ बजे इन और साढ़े पांच बजे आउट करना होता था, अब उसे नौ से चार बजे कर दिया गया है। उन्होंने बताया तय समय में उनके द्वारा किये गये कार्य का आंकलन किया जाएगा। वह स्वयं व्यवस्था पर नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा उनका प्रयास है कि सभी सीएचओ अपनी पूरी क्षमता से काम करें। इसके लिए वह उनसे सीधे संपर्क में रहेंगे। अच्छा काम करने वाले को शाबाशी और ठीक ढंग से काम नहीं करने वालों को दंडित किया जाएगा। सीएचओ को मुख्यरूप से टेलीमेडिसिन, गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग और दवा की व्यवस्था देखनी होती है।

गौरतलब है कि दूर दराज के क्षेत्रों में खोले गए हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर लाभार्थियों को नजदीकी प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ ही जिला स्तरीय चिकित्सालयों और यहां तक कि लखनऊ में बैठे विशेषज्ञों से सीधे जोड़ने का जरिया बन रहे हैं। सीएचओ के जरिए ही वीडियो कॉल पर यह कार्य किया जाना है। इससे जहां एक ओर दूर दराज के क्षेत्रों में रह रहे ग्रामीणों को जिला मुख्यालय तक दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी, वहीं जिला स्तरीय चिकित्सालयों में होने वाली भीड़ में भी कमी आएगी और समय रहते चिकित्सकीय परामर्श मिलने से कोई भी रोग गंभीर होने से पहले ही उपचारित हो सकेगा।

सीएमओ ने बताया सीएचओ के भुगतान संबंधी व्यवस्था में भी सुधार किया गया है। अब भुगतान भी ऑनलाइन किये जा रहे हैं।