बिजनेस मॉडल कैनवस पर एक सत्र का आयोजन

बिजनेस मॉडल कैनवस पर एक सत्र का आयोजन

दी न्यूज़ एशिया समाचार सेवा ।

बिजनेस मॉडल कैनवस पर एक सत्र का आयोजन 

मेरठ। शोभित इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, (नैक ए ग्रेड मान्यता प्राप्त डीम्ड यूनिवर्सिटी, मेरठ) इंस्टीट्यूट इनोवेशन काउंसिल द्वारा आयोजित बिजनेस मॉडल कैनवस पर एक सत्र का आयोजन किया गया। कार्यक्रम  की शुरुआत विभाग की प्रो. निधि त्यागी (समन्वयक इंस्टीट्यूट इनोवेशन काउंसिल) द्वारा मुख्य वक्ता के स्वागत के साथ एवं संछिप्त पारस्परिक परिचय किया।

             बिजनेस मॉडल कैनवस के बारे में विस्तृत ज्ञान प्राप्त करने के लिए, हम भाग्यशाली हैं कि सत्र के लिए विशेषज्ञ डॉ. शीतल चड्डा हमारे साथ रही। डॉ शीतल, एक शिक्षाविद, शोधकर्ता और प्रशिक्षक हैं, जिनके पास 18 साल का शैक्षणिक अनुभव और 5 साल का औद्योगिक अनुभव है। उन्होंने अपने वक्तव्य में मुख्य रूप से व्यापार मॉडल कैनवास उत्पाद को बाजार में सफलतापूर्वक लाने के लिए आवश्यक विभिन्न रणनीतिक विवरणों का एक उच्च-स्तरीय, व्यापक दृश्य प्रदान के लिए विशिष्ट उपयोग का मामला व्यवसाय के मूलभूत बिल्डिंग ब्लॉक्स को रेखांकित करना है, और यह उद्यमियों को उनके व्यवसाय के हर पहलू का एक विस्तृत स्नैपशॉट देता है। यह एक व्यावसायिक विचार या अवधारणा को जल्दी और आसानी से परिभाषित और संप्रेषित करता है। मुख्य गतिविधियाँ कंपनी की वास्तविक प्राथमिकताओं को परिभाषित करती हैं, क्योंकि वे वही हैं जो बिज़नेस में होती हैं और विभाग के प्रबंधक किस पर ध्यान केंद्रित करते हैं। मुख्य संसाधन — ये सबसे महत्वपूर्ण संपत्तियां हैं जिनके बिना आपके बिज़नेस का अस्तित्व नहीं रह सकता है। आपके बिज़नेस के प्रकार और स्थान के आधार पर, ये संसाधन भिन्न-भिन्न हो सकते हैं, लेकिन ये वही हैं जो आपके मूल्य प्रस्ताव को बढ़ावा देने, ग्राहक के साथ संबंध बनाने और आमतौर पर बाज़ार में मौजूद रहने में आपकी सहायता करते हैं। साथ ही, संसाधन विभिन्न प्रकार के हो सकते हैं: वित्तीय, भौतिक, बौद्धिक और मानवीय। इसके अलावा, वे या तो आपके या अन्य कंपनियों से किराए पर लिए जा सकते हैं। कार्यक्रम  के अंत में इंजीनियरिंग एंड टेक्नॉलॉजी के प्रोफ् वी के त्यागी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। और कार्यक्रम में उपस्थित छात्रों को ऐसे कार्यक्रम की महत्ता को बताया । कार्यक्रम  के दौरान सभी विभाग के छात्रों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। कार्यक्रम के दौरान प्रो राकेश जैन, डॉ ममता बंसल, विजय महेश्वरी, डॉ निशांत कुमार पाठक, रोहित वत्स, राजीव कुमार, डॉ नवनीश त्यागी, राजेश पांडे, अभिनव पाठक मुख्य रूप से मौजूद रहे।