सहयोग एप” से होगी बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के कार्यों की निगरानी

सहयोग एप” से होगी बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के कार्यों की  निगरानी

दी न्यूज़ एशिया सामाचार सेवा ।

सहयोग एप” से होगी बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के कार्यों की

निगरानी

बाल विकास परियोजना अधिकारी और मुख्य सेविकाओं को दिया गया प्रशिक्षण

सीडीओ ने सख्ती से लागू करने के दिए निर्देश

मुजफ्फरनगर। 16 दिसंबर 2022

बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के कार्यों की निगरानी अब सहयोग ऐप के माध्यम से होगी। जनपद के एक-एक आंगनबाड़ी केंद्र का इस ऐप में ब्योरा दर्ज होगा। कहीं से भी एक क्लिक करने पर बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग की गतिविधियों का ब्यौरा सामने आ जाएगा। इस संबंध में विकास भवन कार्यालय सभागार में सीडीपीओ और मुख्य सेविकाओं को सहयोगात्मक पर्यवेक्षण एवं प्रशिक्षण दिया गया।

जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेश गौड ने बताया कि सहयोगात्मक पर्यवेक्षण के लिए सहयोग ऐप का क्रियान्वयन शुरू होने वाला है। इस ऐप को बाल विकास परियोजना अधिकारियों एवं सुपरवाइजर की मदद के लिए विकसित किया गया है। ऐप सरल, उपयोग में आसान, मोबाइल आधारित यूजर फ्रेंडली है। इस एप के माध्यम से विभाग द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं की गुणवत्ता और कार्यप्रणाली में सुधार के लिए आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का सहयोग किया जा सकेगा। सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी व मुख्य सेविकाओं को प्रशिक्षण के दौरान ऐप से जुड़ी बारीकियों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुख्य विकास अधिकारी संदीप भागिया द्वारा इस ऐप को सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए गए है।

प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर संतोष शर्मा(बाल विकास परियोजना अधिकारी बघरा) व डीएससीओ सुशील कुमार ने बताया कि इस ऐप में एक चेक लिस्ट होगी, उसी के अनुसार आंगनबाड़ी केंद्रों से संबंधित सूचनाओं को अपलोड किया जाएगा। केंद्रों की निरीक्षण आख्या, पोषाहार की स्थिति, केंद्रों से जुड़े लाभार्थियों का फीडबैक सहित कई बिंदुओं पर जानकारी देनी होगी। इस ऐप से आंगनबाड़ी केंद्रों की समस्त जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध हो सकेगी और कहीं से भी एक क्लिक करने पर जनपद के समस्त केंद्रों में संपादित होने वाली गतिविधियों के बारे में जानकारी मिल सकेगी। इससे व्यवस्थाओं को और चाक-चौबंद किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि ऐप को सीडीपीओ एवं मुख्य सेविका गूगल प्ले स्टोर पर जाकर डाउनलोड करेंगी। डाउनलोड करने के बाद अपना मोबाइल नंबर डालकर लॉग इन करेंगी। लॉगइन करने के बाद उनके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा, जिसके बाद सहयोग ऐप का उपयोग शुरू किया जा सकेगा। इस ऐप पर असाइन कार्यकर्ता, मासिक योजना, जॉब एड, मेरा परफार्मेंस फीडबैक मैकेनिजम, डाटाबेस की सूचना में सुधार, इनबिल्ट चेकलिस्ट जैसे फीचर हैं। इस दौरान मुख्य सेविकाओं की ओर से एप्लीकेशन से संबंधित कई प्रश्न पूछे गए। जिसका मास्टर ट्रेनर ने उत्तर दिया। इस मौके पर सीडीपीओ और मुख्य सेविका आदि मौजूद रहे।